आय वर्ष :

प्रारंभिक शेष
सदस्यता के रूप में प्राप्त राशि
दान के रूम में प्राप्त राशि
ब्याज के रूप में प्राप्त राशि
रेंट के रूप में प्राप्त राशि
अन्य
वर्ष
कुल आय